आरटेट के लिए डेढ़ लाख अभ्यर्थियों को फिर बनवाना पड़ेगा जाति प्रमाण पत्र

0
333


टेट परीक्षा के लिए छह माह से अधिक पुराना नहीं हो ओबीसी व एसबीसी का जाति प्रमाण पत्र, पिछले साल भी टेट के लिए अभ्यर्थियों ने बनवाया था प्रमाण पत्र

जयपुर. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से आयोजित हो रही राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (आरटेट) में जाति प्रमाण पत्र ने डेढ़ लाख अभ्यर्थियों के सामने परेशानी खड़ी कर दी है। बोर्ड ने कहा है कि ओबीसी व एसबीसी का जाति प्रमाण पत्र छह माह से अधिक पुराना नहीं होना चाहिए। ऐसे में इन अभ्यर्थियों को अब फॉर्म भरने से पहले फिर से तहसीलदार कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ेंगे।

इन अभ्यर्थियों ने पिछले साल ही टेट से पहले जाति प्रमाण पत्र बनवाया था। वह प्रमाण पत्र छह माह से अधिक होने के कारण रिजेक्ट हो गया है।

राजस्थान शिक्षक भर्ती परीक्षा संघर्ष समिति के अध्यक्ष संदीप कलवानिया का कहना है कि बोर्ड की इस शर्त से उन अभ्यर्थियों के आगे परेशानी खड़ी हो गई है। जिन्होंने पिछले साल जाति प्रमाण पत्र बनवाया था और उनका चयन नहीं हुआ। वे इस साल फिर से फॉर्म भर रहे हैं। लेकिन उन्हें फॉर्म भरने से पहले फिर प्रमाण पत्र बनवाने के परेशानी उठानी पड़ेगी। उन्हें आर्थिक के साथ साथ मानसिक परेशानी भी होगी।

उन्होंने कहा कि बोर्ड को इस मामले में रियायत देनी चाहिए थी। टेट के फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 9 जुलाई है। परीक्षा 9 सितंबर को आयोजित होगी।

article bottom

LEAVE A REPLY